Tejas Fighter Jet:मलेशिया की पहली पसंद बना भारत का तेजस,चीन,रूस के विमानों को पीछे छोड़ बना नम्बर -1

नई दिल्ली,03 जुलाई :भारत का हल्का लड़ाकू विमान तेजस मलेशिया की पहली पसंद बन कर उभरा है।मलेशिया अपने पुराने लड़ाकू विमानों के बेड़े को बदलने पर विचार कर रहा है।जानकारी के मुताबिक मलेशिया अपने जहाजी बेड़े में तेजस विमान को शमिल करने जा रहा है।इसके लिए भारत के तेजस ने चीन,रूस,दक्षिण कोरिया के लड़ाकू विमानों को पीछे छोड़ा है।तेजस विमान की खरीद को लेकर दोनों के बीच वार्ता हो रही है।

चीन,रूस और कोरिया के विमान को पछाड़

हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक और माधवन ने रविवार को एक इंटरव्यू में बताया है कि भारत के लड़ाकू विमान तेजस ने चीन के जेएफ-17 विमान,दक्षिण कोरिया के एफए-50 और रूस के मिग-35 के साथ-साथ याक-130 को पीछे छोड़कर पहली पोजीशन हासिल की है।मलेशिया ने भारतीय विमान को पसंद किया है।मलेशिया के फाइटर जेट प्रोग्राम के लिए भारत में बने सव्देशी हल्के लड़ाकू विमान तेजस को चुना गया है।

भारत और मलेशिया के बीच हुई डील

भारत और मलेशिया के बीच इस फाइटर जेट की डील को लेकर बातचीत चल रही है।जानकारी के मुताबिक बहुत जल्द इस डील पूरा होने की उम्मीद है। LCA Tejas की डील में भारत मलेशिया को MRO यानी कि मेंटेनेस, रिपेयर और ओवरहॉल का ऑफर भी दे रहा है,यानी मलेशिया में ही एक फैसिलिटी बनाई जाएगी जहां भारतीय इंजिनियर तेजस समेत रुसी सुखाई Su-30 फायटर जेट की मरम्मत भी करेंगे|

सबसे तेज तेजस

तेजस लड़ाकू विमान बनाने वाली कंपनी हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर आर .माधवन ने कहा कि मै इस बात को लेकर बेहद खुश हूँ और आत्मविश्वास से भरा हुआ हूं कि हम ये डील करने जा रहे है ,हमारा तेजस अपने प्रतियोगियों से कई मामलो में बेहतर है ,उन्होंने भले ही चीन का MK-1A वैरिएंट कि मुकाबले कही भी नही ठहरता है ,हमारा तेजस कोरिया और चीन के फायटर जेट्स से कई गुना बेहतर ,घातक और अत्याधुनिक है|

हर कसौटी पर खड़ा उतरा तेजस

माधवन ने इस सौदे के बारे में कहा की हकीकत में भारत अकेला एसा देश है जिसने उनकी जरूरत की हर चीज की कवर किया है इसके साथ ही हमने उसकी बजट आवश्यकताओ को भी ध्यान में रखा है ,उन्होंने कहा की कोई भी उन्हें इतनी तेजी से अपग्रेड की पेशकश नही करेगा जितनी हम पेशकश करेंगे |उनके पास तेजस मार्क 2में एक विकल्प उपलब्ध होगा और वे एएमसीए के बारे में भी सोच सकते है|

भारतीय सेना की ताकत में होगा इजाफा

आर .माधवन ने इसके साथ ही एक और जानकारी देते हुए कहा की अगले साल से भारतीय वायुसेना की ताकत में और इजाफा होने वाला है | अगले साल से देश में मल्टीरोल कॉम्बैट फाइटर जेट तेजस मार्क- 2बनना शुरू हो जाएगा |इसके बाद इसके हाई स्पीड ट्रायल्स होगा | उन्होंने कहा की साल 2025तक हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड तेजस मार्क -2 का उत्पादन शुरू कर देगा | तेजस के इस अपग्रेडेड वर्जन में अधिक इधन ,अधिक रेंज,अधिक वजन उठाने की क्षमता,अधिक इंजन पॉवर और सुपीरियर नेट सेंट्रिक वारफेयर सिस्टम होंगा. अधिक वजन और रेंज की वजह से यह मार्क-1ए से बेहतर साबित होंगा | इसलिए भारतीय तेजस हर रूप से एक बेहतरीन एयरक्राफ्ट है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.